BJ ki Shayri

बेटियां क्यूँ अनमोल हैं?

जिस घर में होती हैं बेटियां…

रब की रहमतें बरसती हैं वहां…

हर बाप के सर का ताज है उनकी बेटियां…

Daughters are precious

घर की ज़ीनत का राज़ है उनकी बेटियां..

हर माँ की परवाज़ है उनकी बेटियां…

परिवार के लिए दुआ है उनकी बेटियां….

मगर शमशान है वो घर बेटियों की कदर नहीं जहाँ…

शैतान हैं वो लोग जिन्होंने कुचली मासूम ज़िंदगियाँ…

इस बेशकीमती नेयमत को क्यूँ ठोकर मारे ये दुनीया…

बेटी जो किसी के घर आये क्यूँ मातम मनाये ये दुनिया…

सोच बदलो तब समाज भी बदलेगा…

बेटियां अनमोल है.

बेटी को बेटों से कम समझने वाला कब सबक लेगा…

बेटी को बेटों से कम समझने वाला कब सबक लेगा…

बेटी को बेटों से कम समझने वाला कब सबक लेगा…

अनीश मिर्ज़ा…

Like

Like Love Haha Wow Sad Angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *