BJ bole to

1996 वर्ल्डकप में पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज आमिर सोहेल और भारतीय गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद के बीच हुआ था कुछ ऐसा…. जाने क्या…

BJ Bole To: वर्ल्डकप में भारत और पाकिस्तान (1996 World Cup, India vs Pakistan) के बीच जीतने भी मैच हुए हैं उसमें भारतीय टीम को जीत मिली है. भारतीय टीम वर्ल्डकप के इतिहास में पाकिस्तान से एक भी मैच नहीं हारी है. 1992 से शुरू हुआ यह सिलसिला आजतक कायम है. जब कभी भी भारत और पाकिस्तान के बीच मैच होता है तो वह मैच काफी रोमांचक होता है. भारत-पाकिस्तान के बीच मैच के दौरान कई बार ऐसा हुआ जब खिलाड़ी बीच मैदान पर एक दूसरे से भिड़ गए हैं. ऐसा ही एक वाकया 1996 वर्ल्डकप में हुआ था जब पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज आमिर सोहेल (Aamer Sohail) ने भारतीय गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad) को लाइव मैच में चिढ़ाया था. दरअसल पाकिस्तान की बैटिंग के दौरान आमिर ने प्रसाद की एक गेंद पर कवर्स में शानदार चौका जमाया था, बाउंड्री लगाने के तुरंत बाद सोहेल ने प्रसाद की तरफ देखकर उंगलियों से इशारा करते हुए यह कहने की कोशिश की थी कि इसी तरह से आपकी गेंद पर चौका लगाउंगा. सोहेल के इस बर्ताव के तुरंत बाद प्रसाद ने अगली गेंद पर उनको बोल्ड कर अपना बदला ले लिया था. 

अब वेंकेटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad in 1996 world Cup) ने उस वक्त को याद करते हुए कुछ कहा है. अश्विन के साथ लाइव चैट के दौरान प्रसाद ने उस समय को याद करते हुए कहा कि, जब सोहेल ने उनकी गेंद पर प्रहार करते हुए चौका जमाया और मुझे इशारा किया तो ऐसा लगा कि किसी ने मुझे थप्पड़ मारा है. सोहेल के द्वारा स्लेजिंग करना मेरे लिए एक थप्पड़ की ही तरह थी. मैं सोहेल से बाउंड्री की उम्मीद नहीं कर रहा था. दर्शकों से भरे स्टेडियम में हुए मैच के दौरान मेरी गेंद पर सोहेल ने चौका जमाकर मुझे बल्ले और उंगलियों से इशारा किया और कहा कि मैं आपकी गेंद पर फिर से बाउंड्री इसी तरह से लगाऊंगा. मैं उस समय पलट कर सोहेल को कुछ नहीं कह सका. बता दें कि इस घटना के अगली ही गेंद पर सोहेल को वेंकेटेश ने बोल्ड कर अपना बदला ले लिया. 

इसपर पूर्व गेंदबाज ने कहा कि ऐसे मौकों पर आपको अपना धैर्य नहीं खोना होता है. सोहेल के इशारा करने के बाद जब मैं वापस गेंदबाजी के लिए जा रहा था तो दिमाग में कई सारे सवाल खड़े होने लगे थे. तब मैंने फैसला किया कि मैं वहीं करूंगा जो इतने सालों से करता आ रहा हूं. मैंने अगली गेंद करने से पहले अपनी कूलनेस को बनाए रखा. मैंने खुद से कहा कि मैं इतने सालों से गेंदबाजी का अभ्यास कर रहा हूं. मैं वहीं करूंगा जो मैं करता आया हूं. अगली गेंद पर सोहेल आउट हो गए और मुझे मेरी मेहनत का फल मिल गया.

Like

Like Love Haha Wow Sad Angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *